अन्य

चीन-पाकिस्तान और अफगान के विदेश मंत्रियों की तीसरी बैठक में परस्पर सहयोग पर सहमति

पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी, अफगानिस्तान के विदेश मंत्री सलाहुद्दीन रब्बानी और चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने इस्लामाबाद में शनिवार को चीन-अफगानिस्तान-पाकिस्तान के विदेश मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लिया.

Foreign Ministers meeting

तीन देशों के विदेश मंत्रियों ने क्षेत्रीय मुद्दों पर बात की और हालातों की समीक्षा की. इससे पहले पिछले साल 18 दिसंबर को काबुल में इन तीनों देशों की बैठक हुई थी. यह बैठक दूसरी थी. तीसरी बैठक शनिवार को इस्लामाबाद में आयोजित की गई जिसमें क्षेत्रीय सहयोग की प्रगति पर विदेश मंत्रियों ने अपनी बात रखी. तीनों देशों के विदेश मंत्रियों ने आपसी संबंधों को और मजबूत बनाने पर जोर दिया. इस बैठक में परस्पर सहयोग, क्षेत्रीय शांति और स्थिरता, विकास में सहभागिता, कनेक्टिविटी, सुरक्षा और आतंकवाद के खिलाफ कार्रवाई को लेकर विस्तृत चर्चा की गई.

विदेश मंत्रियों ने अफगानिस्तान में हाल के आतंकी हमलों की कड़े शब्दों में निंदा की और इससे निपटने के उपायों पर चर्चा की. हाल के दिनों में काबुल, कोंदूज, बघलान और फराह में आतंकी हमले हुए हैं जिनमें कई बेगुनाह लोगों की जान गई है. अफगानिस्तान में जारी राजनीतिक संकट के निपटारे को लेकर तीनों देशों ने अपनी प्रतिबद्धता जाहिर की. इस संदर्भ में अमेरिका और तालिबान के बीच चल रही शांति वार्ता को भी चर्चा का हिस्सा बनाया गया. विदेश मंत्रियों ने आशा जताई कि अफगानिस्तान सरकार और तालिबान के बीच चल रहे शांति प्रयास कामयाब होंगे और वहां लंबे दिनों से जारी हिंसा का दौर थमेगा.

रेहम खान ने पाकिस्तान के विज्ञान एवं तकनीकी मंत्री के बयान को पागलपन की इंतेहा बताया

इस बैठक में बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (बीआरआई) पर भी वार्ता हुई. तीनों देशों ने इस प्रोजेक्ट के जरिए परस्पर सहयोग से कनेक्टिविटी बढ़ाने पर बल दिया. तीनों देशों ने ‘चीन-अफगानिस्तान-पाकिस्तान प्लस’ सहयोग पर विचार विमर्श किया ताकि इन देशों के बीच ज्यादा से ज्यादा व्यापार को बढ़ावा दिया जा सके. अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बीच कनेक्टिविटी बढ़ाए जाने के लिए काबुल-पेशावर मोटरवे के प्रस्ताव पर भी विचार किया गया.

चीन ने अफगानिस्तान और पाकिस्तान के क्रॉसिंग प्वाइंट पर रेफ्रिजरेशन सेंटर, क्लिनिक, पेयजल की सुविधा और इमीग्रेशन रिसेप्शन बनाए जाने पर अपनी इच्छा जताई ताकि दोनों देशों के बीच व्यापार बढ़ाने में सहूलियत मिल सके. तीनों पक्षों ने बीजिंग में अक्टूबर में आयोजित जूनियर क्रिकेट टूर्नामेंट का स्वागत किया जिसमें तीनों देशों के खिलाड़ी दोस्ताना मैच में हिस्सा लेंगे. इस वार्ता की पहली बैठक 2017 में बीजिंग में और दूसरी दिसंबर 2018 में काबुल में आयोजित की गई थी.

 

Show More

Saloni

सलोनी भल्ला पत्रकारिता में पिछले चार साल से एक्टिव हैं। यहां से पहले अमर उजाला में कार्यरत थीं। "खबरी अड्डा" के बाद साथ-साथ लाइव टुडे में भी कार्यरत हैं। वॉयस ओवर आर्टिस्ट, कंटेंट राइटिंग, कंटेंट एडिटिंग और एंकरिंग में एक्सपीरियंस है। लेखन में पॉलीटिकल, क्राइम, एंटरटेनमेंट, ब्यूटी और हेल्थ के साथ-साथ गली मोहल्लों  की खबरों से लेकर सोशल मीडिया तक की चहल-पहल पर अपनी पैनी नजर रखती हैं।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button