खबर तह तक

स्वतंत्र देव सिंह ने अखिलेश पर साधा निशाना, कहा- अभी भी जमीनी हकीकत से दूर हैं

0

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव पर हमला करते हुये सोमवार को कहा कि विरासत में सत्ता और सियासत ये सपा प्रमुख पहले विधानसभा और फिर लोकसभा के चुनावों में मिली करारी शिकस्त से इतने हताश व निराश हैं कि वह आज भी जमीनी हकीकत से दूर हैं। सिंह ने सोमवार को जारी एक बयान में कहा कि देश में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार और प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ के नेतृत्व में राज्य सरकार गांव, गरीब, किसान, नौजवान के कल्याण के लिए काम कर रही है।

मंत्रिमण्डल में फेरबदल को लेकर सपा प्रमुख द्वारा किये गए सवालों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दोनों ही परिवारवाद की राजनीति से कहीं दूर हटकर लोककल्याण के लिए अपना जीवन समर्पित कर कार्य कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि राज्य का मंत्रिमण्डल और सरकार गरीबों की सेवा के लिए तत्पर है। लोकतंत्र में आवश्यकता अनुसार केन्द्र हो या राज्य हो, मंत्रिमण्डल में फेरबदल होता रहता है।

हमारे यहां किसी को हटाया नहीं जाता बल्कि आवश्यकतानुसार संगठन और सरकार में कार्यकर्ता का उपयोग होता है। सिंह ने आरोप लगाया कि समाजवादी पार्टी का शासन आकंठ भ्रष्टाचार में डूबा हुआ शासन था, तत्कालीन मुख्यमंत्री से लेकर नीचे तक के लोग भ्रष्टाचार व अन्य गंभीर आरोपों से घिरे थे। उन्होंने दावा किया की प्रदेश की योगी सरकार और भाजपा कार्यकर्ता गरीबों के कल्याण के लिए कार्य कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि ईडी और सीबीआई स्वतंत्र जांच एजेंसियां हैं जो भ्रष्टाचार व अन्य गंभीर मामलों की जांच करती हैं। ये एजेन्सियां अगर भ्रष्टाचार के मामलों की जांच कर रही हैं तो अखिलेश यादव को क्यों डर लग रहा है। भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि सपा प्रमुख स्वयं स्वीकार कर रहे हैं कि आजम खां ने अवैध ढंग से कब्जाकर निर्माण कार्य कराये, अब जब प्रशासन नियमानुसार कार्रवाई कर रहा है तो उस पर भी अखिलेश यादव सवाल खडे़ कर रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Translate »