खबर तह तक

सिंधू विश्व चैम्पियनशिप में स्वर्ण जीतने वाली पहली भारतीय बनीं

1

बासेल : 24 वर्षीय पीवी सिंधू ने रविवार को भारतीय बैडमिंटन इतिहास का सबसे सुनहरा अध्याय लिख दिया है। आपकोें बता दें कि पुसरला वेंकट सिंधु एक विश्व वरीयता प्राप्त भारतीय महिला बैडमिंटन खिलाड़ी हैं। भारत की ओर से ओलम्पिक खेलों में महिला एकल बैडमिंटन का रजत पदक जीतने वाली वे पहली खिलाड़ी हैं।

बैडमिंटन विश्व चैंपियनशिप 2019

पीवी सिंधु स्विटजरलैंड के बासेल में आयोजित बैडमिंटन विश्व चैंपियनशिप 2019 के फाइनल मुकाबले में जापान की निजोमी ओकुहारा को 21-7 से हराकर स्वर्ण पदक जीत लिया।

लगातार तीसरी बार विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बनाने वाली पीवी सिंधू ने ओकुहारा से दो साल पहले 2017 के विश्व चैंपियनशिप फाइनल में मिली हार का हिसाब भी चुकता कर लिया।

इस खिताबी जीत के साथ पीवी सिंधू वर्ल्ड चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय शटलर बन गईं। उनसे पहले और कोई भारतीय ऐसा नहीं कर सका था।

पहले गेम की शुरुआत 22 शॉट्स की रैली के साथ हुई लेकिन पहली सर्विस में ही सिंधू ने प्वाइंट गंवा दिया। इसके बाद शानदार वापसी करते हुए सिंधू ने लगातार 8 अंक बटोरे और 8-2 की बढ़त हासिल कर ली।

और आखिर में भारत की सिंधू ने 21-7 से दूसरा खेल जीतकर विश्व चैंपियन का खिताब अपने नाम कर लिया। पीवी सिंधू और ओकुहारा के बीच इस मुकाबले से पहले कांटे की टक्कर देखने को मिली थी।

1983 में प्रकाश पादुकोण ने जीता कांस्य पदक

जानकारी के लिए बता दें कि साल 1983 में प्रकाश पादुकोण ने विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था। वह विश्व चैंपियनशिप में पदक जीतने वाले पहले भारतीय बने थे।

इसके 30 साल बाद सिंधू ने विश्व चैंपियनशिप में भारत के पदक से सूखे को ग्वांग्जू में साल 2013 में खत्म किया था। सिंधू विश्व चैंपियनशिप में पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला भी बनीं थीं।

इसके बाद 2014 में उन्होंने एक बार फिर कांस्य पदक जीता और वर्ल्ड चैंपियनशिप में दो पदक जीतने वाली पहली भारतीय बनीं।

इसके बाद साल 2016 में जकार्ता में आयोजित वर्ल्ड चैंपियनशिप में साइना नेहवाल ने रजत पदक हासिल किया। वह वर्ल्ड चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने और रजत पदक जीतने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी बनीं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Translate »