खबर तह तक

भाजपा vs टीएमसी : ममता बनर्जी ने नंदीग्राम में निकाली पदयात्रा

कोलकाता : पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज नंदीग्राम के बागबेड़ा में विशाल पदयात्र कर रही हैं. जहां वह अपने पूर्व सहयोगी और अब भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी के खिलाफ चुनाव मैदान में हैं. पूर्वी मेदिनीपुर जिले की इस महत्वपूर्ण सीट पर विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में एक अप्रैल को मतदान होगा.
बता दें कि इससे पूर्व तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ रोड शो में बनर्जी ने रेयापाड़ा खुदीराम मोड़ से ठाकुर चौक तक आठ किलोमीटर लंबा सफर तय किया. इस दौरान वह व्हीलचेयर पर रहीं और हाथ जोड़कर लोगों का अभिवादन करती रहीं. रोड शो में सैकड़ों स्थानीय लोगों और पार्टी कार्यकर्ताओं ने हिस्सा लिया और ममता बनर्जी जिंदाबाद के नारे लगाए.
तृणमूल अध्यक्ष ने घोषणा की है कि वह बृहस्पतिवार को मतदान होने तक नंदीग्राम में ही रहेंगी. दूसरे चरण के लिए मतदान 30 अप्रैल शाम पांच बजे खत्म होगा, भाजपा के सूत्रों ने बताया कि मंगलवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी नंदीग्राम में रोडशो में हिस्सा ले सकते हैं.

शुभेंदु के पिता से ममता की जुबानी जंग

पश्चिम बंगाल की नंदीग्राम सीट पर तृणमूल कांग्रेस की उम्मीदवार ममता बनर्जी और भाजपा प्रत्याशी शुभेंदु अधिकारी के पिता के बीच सोमवार को जमकर जुबानी जंग हुई.पूर्व मेदिनीपुर जिले की इस प्रतिष्ठित सीट पर जबरदस्त प्रचार चल रहा है जो मंगलवार को शाम थम जाएगा, क्योंकि यहां पर दूसरे चरण के चुनाव के तहत एक अप्रैल को वोट डाले जाएंगे.अधिकारी और उनके पिता शिशिर अधिकारी पर निशाना साधते हुए मुख्यमंत्री बनर्जी ने आरोप लगाया कि कृषि भूमि अधिग्रहण के खिलाफ ऐतिहासिक आंदोलन के दौरान 14 मार्च 2007 को पिता-पुत्र की जानकारी के बिना पुलिस नंदीग्राम में नहीं आ सकती थी.
बनर्जी ने कहा पिता-पुत्र की जानकारी के बिना (2007 में) पुलिस नंदीग्राम में नहीं घुस सकती थी.उन्होंने कहा, यह मेरी गलती है कि मैंने उन्हें इतना प्यार दिया. शुभेंदु अधिकारी दूसरे चरण के मतदान में हिंसा फैलाने के लिए अपराधियों को शरण दे रहे
वहीं चुनावी रणभूमि में तृणमूल कांग्रेस भाजपा को धूल चटाने के लिए कोई भी मौका नहीं छोड़ रही है, टीएमसी ने भाजपा पर हिंसा फैलाने का आरोप लगाया है. टीएमसी ने चुनाव आयोग में शिकायत देकर आरोप लगाया कि नंदीग्राम सीट से भाजपा उम्मीदवार शुभेंदु अधिकारी दूसरे चरण के मतदान में हिंसा फैलाने के लिए अपराधियों को शरण दे रहे हैं और उन्हें पश्चिम बंगाल के अलग-अलग होटलों एवं गेस्ट हाउस में ठहरा रहे हैं. मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) को लिखे पत्र में टीएमसी नेता डेरेक ओ ब्रायन ने दावा किया कि स्थानीय पुलिस को इस बाबत सूचित करने के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की गई.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More