खबर तह तक

देश विकास के पथ पर अग्रसर, 5 हवाई अड्डों से अंतरराष्‍ट्रीय उड़ान देने वाला पहला प्रदेश बना यूपीः योगी आदित्‍यनाथ

गोरखपुर: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने होली के मौके पर प्रदेशवासियों को बड़ा तोहफा दिया है. प्रदेश में सात नए रूट्स पर हवाई सेवा की सौगात मिली है. इनमें से पांच की शुरुआत आज और दो रूट्स पर कल से उड़ान शुरू होगी. रविवार को गोरखपुर से लखनऊ (एलायंस एयर-एयर इंडिया) की उड़ान के साथ प्रयागराज-भोपाल (इंडिगो), प्रयागराज-भुवनेश्वर (इंडिगो), आगरा-भोपाल (इंडिगो) और आगरा-बेंगलुरु (इंडिगो) की फ्लाइट शुरू हुई है. कल से आगरा-मुंबई (इंडिगो) और आगरा-अहमदाबाद (इंडिगो) की उड़ानें भी शुरू हो जाएंगीं. सीएम ने कहा कि उत्तर प्रदेश पांच हवाई अड्डों से अंतरराष्‍ट्रीय उड़ान देने वाला पहला प्रदेश बन गया है.
सिविल एयरपोर्ट टर्मिनल भवन के विस्तार का शिलान्यास भी किया
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय नागरिक उड्डयन व शहरी विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हरदीप सिंह पुरी ने महायोगी गोरक्षनाथ हवाई अड्डा गोरखपुर में एलाइंस एयर (एयर इंडिया) की गोरखपुर-लखनऊ पहली फ्लाइट का शुभारंभ हरी झंडी दिखाकर किया. मुख्यमंत्री और केंद्रीय नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री ने यहां सिविल एयरपोर्ट टर्मिनल भवन के विस्तार का शिलान्यास भी किया. इस दौरान सीएम योगी ने कहा कि विगत चार सालों में प्रदेश में हवाई सेवा का तेजी से विस्तार हुआ है. उत्तर प्रदेश पांच हवाई अड्डों से अंतरराष्ट्रीय उड़ान सेवा देने वाला देश में पहला प्रदेश बन रहा है. दो क्रियाशील हैं और तीन क्रियाशील होने जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि जहां भी यात्री मिलेंगे, वहां से उड़ान की सुविधा दी जाएगी.
मेरठ से दिल्ली रैपिड रेल का काम तेजी से जारी है
इसी कड़ी में ललितपुर, झांसी, सोनभद्र, श्रावस्ती, अलीगढ़ और मुरादाबाद में हवाई सेवा शुरू करने का कार्य चल रहा है. सीएम ने कहा कि मेरठ से दिल्ली रैपिड रेल का काम तेजी से जारी है. गोरखपुर में मेट्रो ट्रेन की कार्य योजना पर काम चल रहा है. वाराणसी और प्रयागराज को लाइट मेट्रो रेल की सौगात मिलने जा रही है. हवाई सेवा से क्षेत्र का तेजी से विकास होता है. मुख्यमंत्री ने बताया कि यहां अप्रेन के विस्तारीकरण की भी स्वीकृति मिल गई है. उन्होंने गोरखपुर एयरपोर्ट के विस्तार में केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और वायुसेना के योगदान, सहयोग की प्रशंसा की.
आगे भी होगा विस्तार
सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गोरखपुर के साथ प्रदेश के पांच हवाई अड्डों से देश के प्रमुख शहरों के लिए हवाई सेवा शुरू हो रही है. दो नई उड़ान की शुरूआत 29 मार्च से हो जाएगी. अब चप्पल पहनने वाले भी हवाई जहाज से यात्रा कर सकेंगे. उन्होंने कहा कि लखनऊ हवाई जहाज से जाने में महज 1470 रुपए लगेंगे और समय मात्र एक घंटा. इससे अधिक खर्च और समय निजी वाहन से जाने में लग जाता है. अब तो गोरखपुर से सात प्रमुख शहरों के लिए फ्लाइट उपलब्ध है और इसका आगे भी विस्तार होता रहेगा.
हवाई सेवा का विस्तार हुआ है
केंद्रीय नागरिक उड्डयन और शहरी विकास राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के प्रयास से गोरखपुर समेत पूरे उत्तर प्रदेश में तेजी से हवाई सेवा का विस्तार हुआ है. गोरखपुर में जल्द ही विमानों की नाईट लैंडिंग सुविधा भी उपलब्ध होगी. साथ ही अप्रन के विस्‍तारीकरण का कार्य भारतीय वायुसेना के माध्‍यम से किया जाने वाला है. आने वाले समय में गोरखपुर से 13 नहीं 30 फ्लाइट की सुविधा होगी. कोविड संक्रमण काल में भी उड़ान के मामले में यहां का ग्रोथ रेट 98 फीसद रहा है. उन्होंने इस बात के लिए भी मुख्यमंत्री की तारीफ की कि उत्तर प्रदेश पहला राज्य है जिसकी अपनी सिविल एविएशन पॉलिसी है. उन्होंने प्रदेश सरकार की ओडीओपी योजना की सराहना करते हुए कहा कि योगी जी ने इसे आत्मनिर्भरता और रोजगार का सफल मॉडल बनाया है.
रविकिशन भी रहे मौजूद
नागरिक उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने कहा कि चार साल पहले यूपी से 28 शहरों के लिए ही हवाई सेवा थी और अब यहां से 88 शहरों के लिए एयर कनेक्टिविटी है. इसका श्रेय उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को दिया. आभार ज्ञापन करते हुए मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव नागरिक उड्डयन एसपी गोयल ने कहा कि सरकार की योजना यहां के टर्मिनल में यात्रियों की संख्या 1000 तक पहुंचाने की है. कार्यक्रम को गोरखपुर के सांसद रविकिशन शुक्ल ने भी संबोधित किया.
नई फ्लाइट्स भी शुरू हो सकेंगी
केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को गोरखपुर में महायोगी गुरु गोरखनाथ सिविल एयरपोर्ट टर्मिनल भवन के विस्तार का शिलान्यास भी किया. इसका निर्माण पूर्ण होते ही टर्मिनल में 200 और यात्रियों के ठहराव की क्षमता बढ़ जाएगी. यात्रियों की बढ़ती भीड़ के मद्देनजर इसकी अपरिहार्य आवश्यकता जताई जा रही थी. इसके लिए केन्‍द्र सरकार द्वारा 26.87 करोड़ रुपए की धनराशि स्‍वीकृत की गई है. टर्मिनल भवन का विस्तारीकरण पूर्ण होते ही कई नई फ्लाइट्स भी शुरू हो सकेंगी.
बिहार और नेपाल के लोगों को भी मिल रहा है लाभ
पूर्वांचल के लोगों के लिए एक और बड़ी खुशखबरी है. 12 अप्रैल से गोरखपुर एयरपोर्ट से अहमदाबाद के लिए भी एयर इंडिया की उड़ान शुरू होने जा रही है. लखनऊ के लिए उड़ान शुरू होने के साथ वर्तमान में गोरखपुर से सात प्रमुख शहरों नई दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, बेंगलुरु, हैदराबाद, प्रयागराज और लखनऊ के लिए फ्लाइट की सुविधा हो गई है. इसका लाभ गोरखपुर के साथ आसपास के जिलों, बिहार और नेपाल तक के लोगों को मिल रहा है. फ्लाइट की संख्या देखें तो गोरखपुर से दिल्ली के लिए एयर इंडिया, इंडिगो और स्पाइस जेट की चार, हैदराबाद, कोलकाता, बेंगलुरु और प्रयागराज के लिए इंडिगो की एक-एक, मुंबई के लिए स्पाइस जेट की दो और इंडिगो की एक और लखनऊ की एयर इंडिया की एक फ्लाइट की सेवा मिल रही गई है.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More