खबर तह तक

NEET और JEE परीक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे 6 राज्यों के मंत्री, परीक्षा कराने के फैसले पर समीक्षा की मांग

नीट और जेईई के परीक्षा को टालने की मांग लगातार हो रही है। छात्रों की इस मांग को विपक्ष का भी समर्थन मिला है। इस बीच खबर आ रही है कि विपक्ष शासित छह राज्यों के मंत्री इस मामले को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं और फैसले पर समीक्षा के लिए अनुरोध की है।

वहीं, दूसरी तरफ राजनीतिक दलों के विरोध के बीच नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने जेईई और नीट के आयोजन की तैयारियां तेज कर दी है। बुधवार शाम तक जेईई-नीट के करीब 23 लाख में 14 लाख अभ्यर्थियों ने इसे डाउनलोड भी कर लिया।एनटीए के चैयरमैन विनीत जोशी ने कहा कि यह दर्शाता है कि बच्चे बेसब्री से परीक्षा का इंतजार कर रहे हैं।

सीएम पटनायक ने पीएम मोदी को लिखी चिट्ठी

पश्चिम बंगाल और कांग्रेस शासित प्रदेशों के बाद अब ओडिशा सरकार भी नीट और जेईई की परीक्षा टालने के पक्ष में है। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने नरेंद्र मोदी से फोन पर बात की है और इन परीक्षाओं को स्थगित करने का अनुरोध किया। बुधवार को सोनिया गांधी की अगुवाई में गैर बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों संग इस मुद्दे पर बैठक हुई थी।

एएनआई के मुताबिक, ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने नरेंद्र मोदी से फोन पर बातचीत की। इस दौरान सीएम पटनायक ने पीएम मोदी से कोरोना वायरस के हालात और राज्य के कई हिस्सों में आई बाढ़ के मद्देनजर नीट और जेईई की परीक्षाएं टालने करने का अनुरोध किया।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More