उत्तर प्रदेशबड़ी खबरबाराबंकी

शाइन सिटी के पूर्व कर्मचारी दूसरी कम्पनी बनाकर बाराबंकी में चला रहे गोरखधंधा

  • शाइन सिटी की तर्ज पर काम कर रहा रॉयल ग्रुप
  • शाइन सिटी वा उसके सहयोगियों पर प्रदेश भर में दर्ज है 2500 मुकदमे
  • कस्टमर को दिखाया जाने वाला लेआउट फर्जी, रेरा में प्रोजेक्ट रजिस्ट्रेशन नही
  • प्रधानमंत्री आवास योजना का झाँसा दे रहा है रॉयल ग्रुप

बाराबंकी। बाराबंकी के नवाबगंज तहसील में इन दिनों रॉयल ग्रुप नामक कम्पनी हीरा एन्क्लेव के नाम से प्रोजेक्ट चला रही है। यहाँ पर कृषि योग्य भूमि पर गैरकानूनी तरीके से अवैध प्लाटिंग की जा रही है। तथा प्लाटो की गैरकानूनी रूप से रजिस्ट्रियां भी करवाई जा रही है। इस मामले में राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन ने उप जिलाधिकारी सदर बाराबंकी और पुलिस अधीक्षक बाराबंकी को सबूतों समेत ज्ञापन सौंपा।

ज्ञापन में कहा गया कि यह कम्पनी शाइन सिटी की तर्ज पर ही लोगो से धोखाधड़ी कर रही है। गौरतलब है कि शाइन सिटी के ऊपर प्लाट के नाम पर ठगी के प्रदेश भर में 2500 मुकदमे दर्ज है तथा अकेले गोमतीनगर थाने में 150 मुकदमे दर्ज है। संगठन ने बाराबंकी में चल रहे हीरा प्रोजेक्ट तथा उस कम्पनी की मार्केटिंग कर रहे रॉयल ग्रुप के मालिक देवेश श्रीवास्तव पर शाइन सिटी के कर्मचारी होने का आरोप लगाया।

हीरा एन्क्लेव नाम का प्रोजेक्ट रेरा में रजिस्टर्ड नही है। रेरा की गाइडलाइन कहती है कि बिना प्रोजेक्ट रजिस्ट्रेशन के प्लाट बेचना तो दूर कोई उसका प्रचार प्रसार भी नही कर सकता। वही दूसरी तरफ हीरा एनक्लेव पूरी तरीके से कृषि भूमि पर प्लाटिंग कर रहा है। जो की पूरी तरीके से गैरकानूनी है। इस प्रोजेक्ट में लोगो को फर्जी लेआउट दिखाकर तथा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत छूट का झांसा देकर लोगो से पैसे वसूले जा रहे है। और आशियाने का सपना दिखाकर लोगो की जन्दगी भर की गाढ़ी कमाई ठगी जा रही है।

रॉयल ग्रुप का आफिस लखनऊ में है। रॉयल ग्रुप के मालिक देवेश श्रीवास्तव पूर्व में शाइन सिटी जैसी फ्रॉड कम्पनी में उच्च पद पर तैनात थे। राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के मण्डल प्रभारी कुंदन वर्मा ने कहा कि हीरा प्रोजेक्ट में किसानों से जमीनी विवाद भी चल रहा है।किसानों को बेवकूफ बना कर उनकी जमीनी हथियाई जा रही है। संगठन के पास शिकायत आने पर हमने एसडीएम से शिकायत की है और प्रोजेक्ट को सीज करने की माँग की है।आगामी एक सप्ताह में ऐसा नही होने पर हम बड़े आंदोलन की रणनीति तय करेंगे। किसानों, गरीबो, बेरोजागरो और मजदूरों की लड़ाई संगठन की तरफ से जारी रहेगी।

Rahul Tripathi

राहुल त्रिपाठी (उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त पत्रकार) पिछले 12 वर्षों से पत्रकारिता में हैं। इस दौरान आपने कैनविज टाइम्स, द मिड डे एक्टिविस्ट, स्वदेश चेतना, जनसंदेश, डेली न्यूज़, तरुनमित्र, विचार संकलन, पत्रकार सत्ता, दैनिक भास्कर आदि समाचार पत्रों में विभिन्न पदों पे जिम्मेदारियों को निभाया है। साथ ही द मॉर्निंग एक्सप्रेस एवं अमरेश दर्पण आदि में सह संपादक के पद पर भी कार्य किया है। तन्मय प्रभात के समूह संपादक के साथ-साथ खबरी अड्डा को भी अपनी सेवाएं दे रहें हैं और इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के अयोध्या मंडल अध्यक्ष हैं।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button