देशबड़ी खबर

गर्भवती हथिनी की मौत पर एक ही सुर में बोले दिग्गज, दोषियों को मिले कड़ी सजा

नई दिल्ली। पूरा विश्व इस वक्त कोरोना वायरस से जंग लड़ रहा है। ऐसे में हर कोई एक दूसरे की मदद के लिए आगे आ रहे हैं। लेकिन केरल से एक ऐसी खबर सामने आई, जिसके बाद एहसास होता है कि कुछ लोगों के अंदर से इंसानियत ही खत्म हो गई है। हाल ही में केरल में एक गर्भवती हथिनी के साथ कुछ अज्ञात लोगों ने शरारत करते हुए अनानास में पटाखा भरकर उसे खिला दिया। जिसके बाद उसकी मौत हो गई। इस घटना ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया। जिसके बाद सोशल मीडिया पर आम से लेकर खास तक हर कोई इस घटना की निंदा कर रहा है और सरकार से कड़ी कार्रवाई की अपील कर रहा है।

‘अमानवीय घटना’ – मायावती

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने भी ट्वीट करते हुए इस घटना पर अपना रोष व्यक्त किया है। उन्होंने कहा है कि ऐसी क्रूरता की जितनी भी निंदा की जाए वह कम है।

मायावती ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘केरल के पलक्कड में एक गर्भवती हथिनी को विस्फोटक भरा अनानास खिलाकर क्रूरतापूर्वक मारने की अति-दुःखद व निन्दनीय खबर स्वाभाविक तौर पर मीडिया की सुर्खियों में है। हाथी जैसे सहज व उपयोगी जानवर के साथ ऐसी क्रूरता की जितनी भी निन्दा की जाए वह कम है। सरकार दोषियों को सख्त सजा दे।’

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने भी इस मामले में ट्वीट करते हए कहा कि केंद्र सरकार ने इस मामले में राज्य सरकार से जवाब मांगा है। पूरी रिपोर्ट ली जाएगी और किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।

हथिनी के साथ हुए इस घटना पर राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी दुख व्यक्त किया है। उन्होंने लिखा कि केरल की घटना ने हर किसी को अंदर तक झकझोर दिया है। हाथी भगवान गणेश का स्वरूप हैं, ऐसे में उनके साथ जिसने भी ऐसी हरकत की है उसपर कार्रवाई होनी चाहिए।

वहीं क्रिकेटर रोहित शर्मा ने भी इस मामले को गंभीरता से लेते हुए ट्वीट करते हुए कहा कि क्या इंसान कुछ सीख नहीं रहे हैं? केरल में एक हथिनी के साथ जो हुआ, वो किसी के साथ नहीं होना चाहिए। ये दिल तोड़ने वाला है।

क्या बोलीं मेनका गांधी

इस पूरी घटना पर बोलते हुए मेनका गांधी कहती है कि केरल के वन सचिव को हटा देना चाहिए और वन्य संरक्षण के लिए नियुक्त मंत्री को इस्तीफा देना चाहिए। वह कहती है कि ‘अब क्या करें, राहुल को कुछ तो समझ आता नहीं है। सुल्तानपुर या पीलीभीत में कोई जानवर मरता है तो फौरन ही हम कोई उपाय ढूंढते हैं। केरल में जो मरी है, वह मेरी बेटी, मेरी बहन है। राहुल गांधी सोच समझकर बोलें कभी तो अच्छा होगा।’

केरल के वन मंत्री ने मांगी रिपोर्ट

केरल के वन मंत्री के राजू ने बताया कि उन्होंने शीर्ष वन अधिकारियों से हथिनी की मौत के संबंध में रिपोर्ट मांगी है। साइलेंट घाटी में हथिनी कुछ खा पाने में असमर्थ थी क्योंकि उसने अनानास में भरे पटाखे चबा लिए थे और पटाखे उसके मुंह में ही फट गया था।

वन संरक्षण ने कहा ये

वन संरक्षण मुख्य सचिव (वन्य जीव) सुरेंद्र कुमार ने बताया कि यह घटना साइलेंट घाटी के अट्टापडी में हुई और उसकी मौत मल्लापुरम जिले के वेलियार नदी में 27 मई को हो गई। सुरेंद्र कुमार ने बताया कि उन्होंने दोषी को गिरफ्तार करने के निर्देश दिए हैं। वन अधिकारी मोहन कृष्णा द्वारा इस संबंध में फेसबुक पर भावनात्मक पोस्ट करने के बाद यह मामला लोगों के संज्ञान में आया।उन्होंने वेलियार नदी में हथिनी की मौत को लेकर पोस्ट लिखा था।

उन्होंने लिखा, ‘जब हमने उसे देखा तो वह अपना मुंह पानी में डाले खड़ी थी। उसके अंदर यह भावना आ गई थी कि वह अब मरने वाली है। और वह खड़े होकर जलसमाधि में चली गई थी।’ हथिनी को पानी से निकाल कर किनारे लाने के कार्य के लिए तैनात कृष्णा ने पानी में खड़ी हथिनी की तस्वीर भी साझा की है।

विस्फोटक से भरा अनानास खाया

बता दें केरल के मलप्पुरम के एक हथिनी की विस्फोटक से भरा अनानास खाने से मौत हो गई। वह उस समय गर्भवती थी। इस पूरे मामले की जानकारी केरल के एक वन अधिकारी ने दी है। जिसके बाद केरल सरकार वहां के नागरिकों की पूरे देश में आलोचना हो रही है। इस घटना के बाद सोशल मीडिया पर लोगों के मन में काफी गुस्सा पनप रहा है और वह बढ़ चढ़कर सरकार से सवाल कर रहे हैं।

Saurabh Bhatt

सौरभ भट्ट पिछले दस सालों से मीडिया से जुड़े हैं। यहां से पहले टेलीग्राफ में कार्यरत थे। इन्हें कई छोटे-बड़े न्यूज़ पेपर, न्यूज़ चैनल और वेब पोर्टल में रिपोर्टिंग और डेस्क पर काम करने का अनुभव है। इनकी हिन्दी और अंग्रेज़ी भाषा पर अच्छी पकड़ है। साथ ही पॉलिटिकल मुद्दों, प्रशासन और क्राइम की खबरों की अच्छी समझ रखते हैं।

संबंधित समाचार

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button