खबर तह तक

पाकिस्तानी मंत्री ने भारत-पाकिसतान के बीच जंग की तारीख का किया ऐलान

0

 कभी पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान परमाणु युद्ध की धमकी देते हैं, तो कभी उनके मंत्री भी इसी तरह की बयानबाजी करते हैं. अब पाकिस्तान सरकार में मंत्री शेख रशीद ने एक बार फिर युद्ध की भविष्यवाणी की है, इस बार पाकिस्तानी मंत्री ने युद्ध की तारीख भी बता दी है.

Pakistan attacks India

पाकिस्तानी न्यूज़ चैनल ‘दुनिया टीवी’ के मुताबिक, बुधवार को एक सेमिनार में पाकिस्तानी मंत्री शेख रशीद ने कहा कि मैं अक्टूबर-नवंबर में भारत-पाकिस्तान के बीच युद्ध होता देख रहा हूं, और आज यहां पर कौम को तैयार करने के लिए आया हूं. शेख रशीद ने कहा कि पाकिस्तानी सेना के पास जो हथियार हैं, वो दिखाने के लिए नहीं बल्कि इस्तेमाल करने के लिए हैं.

अपने संबोधन में पाकिस्तानी मंत्री ने कहा कि हम संयुक्त राष्ट्र के सामने बार-बार इस मसले को उठाएंगे, वह एक बार फिर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) का दौरा करेंगे. शेख रशीद ने कहा कि पाकिस्तान आखिरी दम तक कश्मीर के लिए लड़ता रहेगा. पाकिस्तान के एक पत्रकार ने शेख रशीद के इस बयान का वीडियो भी ट्विटर पर पोस्ट किया है.

मोदी सरकार का बड़ा फैसला, देशभर में खुलेंगे 75 नए मेडिकल कॉलेज

लंदन में पड़े थे अंडे

 शेख रशीद वही मंत्री हैं, जिनपर बीते दिनों लंदन में हमला हुआ था और अंडे फेंके गए थे. दरअसल, रशीद शेख ने भारत-पाकिस्तान के बीच परमाणु युद्ध की बात की थी, उसके बाद जब वह लंदन पहुंचे तो लोगों ने उन्हें जमकर पीटा और उनपर अंडे फेंके.

शेख रशीद लगातार इस तरह की बयानबाजी करते आए हैं. अभी दो दिन पहले ही उन्होंने कहा था कि अगर भारत की ओर से पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (PoK) पर हमला किया जाता है, तो ये भारतीय उपमहाद्वीप का बड़ा युद्ध होगा और इससे पूरा नक्शा बदल जाएगा.

गौरतलब है कि इससे पहले पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी जब अपने देश को संबोधित किया था, तब भी उन्होंने कई बार इस बात का जिक्र किया था. अपने संबोधन में इमरान ने कहा था कि भारत-पाकिस्तान दो परमाणु संपन्न देश हैं, ऐसे में दुनिया को इस बात पर ध्यान देना चाहिए कि दोनों के बीच हालात ना बिगड़ें.

एक तरफ पाकिस्तानी मंत्री लगातार युद्ध की धमकी दे रहे हैं, तो वहीं दूसरी ओर संयुक्त राष्ट्र से जम्मू-कश्मीर के मसले पर दखल देने की अपील कर रहे हैं. सिर्फ संयुक्त राष्ट्र ही नहीं पाकिस्तान की ओर से अमेरिका, चीन, रूस, यूएई समेत कई बड़े देशों से इस मसले में दखल देने की बात कही है, लेकिन हर बार पाकिस्तान को निराशा हाथ लगी है. क्योंकि अमेरिका हो या फिर रूस हर किसी ने अनुच्छेद 370 पर फैसले को भारत का आंतरिक मसला बताया है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More