खबर तह तक

उत्तर प्रदेश को मिलेंगे सात नए मेडिकल कॉलेज

0

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि पहले इंसेफेलाइटिसके लिए लड़ा। अब सड़क हादसे चुनौती हैं। इसके लिए कार्ययोजना बनाई है। 2017 में इसेफेलाइटिस को लेकर समन्वय बनाया। कई विभागों को जोड़ा। अब हादसे रोकने के लिए यह काम करना होगा। मौका था, साइंटिफिककंवेंशन सेंटर में इंडियन सोसाइटी ऑफ ट्रामा एंड एक्यूट केयर (आइएसटीएसी) की तीन दिवसीय नौवीं राष्ट्रीय संगोष्ठी का।

कार्यक्रम में सीएम ने कहा कि 2016 तक जिला अस्पताल में इंसेफेलाइटिस के उपचार के साधन नहीं थे। हमने दो वर्ष में इसे 35 फीसद तक कम किया है। मौत के आंकड़े 65 प्रतिशत कम हुए हैं, जो न्यूनतम है। इस दौरान सीएम के साथ चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना, डिप्टी सीएम स्वामी प्रसाद मौर्य, सहकारिता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा, प्रमुख सचिव रजनीश दूबे और महानिदेशक केके गुप्ता मौजूद रहे।

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ तय कार्यक्रम के मुताबिक पुलिस लाइन के परेड ग्राउंड मैदान में हेलीकॉप्टर से उतरे। इसके बाद कार से सीधे मेडिकल कॉलेज के लिए रवाना हो गए। वहीं पर वह मेडिकल कॉलेज का लोकार्पण और एमबीबीएस छात्रों को संबोधित भी करेंगे। इसके बाद वह बलहा विधानसभा क्षेत्र के मोतीपुर में उपचुनाव को लेकर जनसभा करेंगे। इसकी तैयारी शुरू हो गई है।

10 मिनट में पहुंचेगी एम्बुलेंस

योगी ने कहा कि हम आपदा से निपटने के लिए काम कर रहे हैं। एसडीआरएफ को केजीएमयू में ट्रेनिंग कराया जा रहा है। 108, 102 डायल 100 के सभी को रिस्पांस टाइम को कम कर रहे हैं। इसे इटीग्रेट करके 10 मिनट पर ले आ रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More